इनहेलर्स

इन्हेलर: मिथक और तथ्य

जबकि दुनिया भर के अधिकांश लोगों ने न्हेलर

को सांस संबंधी समस्याओं का इलाज करने का सबसे प्रभावी तरीका माना है, फिर भी इन उपकरणों से संबंधित कई मिथक हैं. इन मिथकों के कारण ही कुछ लोग अक्सर थोड़े से चिंतित होते हैं जब उन्हें बताया जाता है कि इन्हेलेशन थेरेपी उनके लिए सबसे अच्छी है. हालांकि, न्हेलर का उपयोग करना सुरक्षित और प्रभावी है, इसलिए आप बिना किसी चिंता के उनका इस्तेमाल कर सकते हैं.

जब न्हेलर की बात आती है तो लोगों में इसके बारे में निम्नलिखित आम मिथक हैं:

मिथक #1 - न्हेलर की आदत पड़ जाती है.

आम धारणा के बावजूद, न्हेलर का नियमित रूप से उपयोग करने का मतलब यह नहीं है कि आप इसके आदी हो जाएंगे. न्हेलर में इस्तेमाल की जाने वाली दवा की आदत नहीं पड़ती है. इसे सयम से पहले बंद करने से लक्षण फिर से उभर सकते हैं. सीधे शब्दों में कहें, तो सांस संबंधी समस्याओं जैसे अस्थमा

और सीओपीडी

का इलाज करने के लिए इन्हेकी आवश्यकता है और इनकी आदत नहीं पड़ती है. न्हे का इस्तेमाल उस समय तक किया जाना चाहिए जब तक कि आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित किया गया हो.

मिथक #2 न्हेलर का उपयोग बच्चों के विकास को रोकता है.

न्हेलर के बारे में यह एक बहुत ही आम गलतफहमी है. न्हेलर से के बराबर दुष्प्रभाव होते हैं, क्योंकि फेफड़ों में पहुंचने वाली दवा बहुत कम डो में होती है. वास्तव में, जब नियमित रूप से और निर्धारित डो में ली जाती है, तो न्हेलर सांस संबंधी समस्याओं के इलाज के लिए उपयोग करने हेतु सबसे सुरक्षित दवा हैं. प्रचलित धारणा के विपरीत, जिन बच्चों ने अपनी सांस संबंधी समस्या का इलाज करने के लिए न्हेलर का नियमित रूप से उपयोग किया है, उनकी ऊंचाई सामान्य वयस्क जितनी बढ़ी है.

मिथक #3 - सांस से ली जाने वाली स्टेरॉयड हानिकारक हैं

जब आप न्हेलर का उपयोग करते हैं, तो दवा सीधे समस्या क्षेत्र - फेफड़े - तक पहुंच जाती है. इसलिए, न्हेलर के माध्यम से फेफड़ों में पहुंचने वाली दवा की मात्रा बहुत कम होती है. ऐसी कम मात्रा से कोई नुकसान नहीं होता है. न्हेलर को बच्चों और गर्भवती महिलाओं सहित किसी भी व्यक्ति द्वारा सुरक्षित रूप से लिया जा सकता है. इसके अलावा, न्हेलर की दवा में जिस तरह का स्टेरॉयड इस्तेमाल किया जाता है वह खिलाड़ियों (एथलीट्स) और बॉडी बिल्डर्स द्वारा उनके प्रदर्शन में सुधार करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्टेरॉयड जैसी नहीं होती. इस प्रकार, न्हेलर की वजह से आपको किसी भी प्रकार का दुष्प्रभाव होने की संभावना लगभग शून्य के बराबर होती है. असल में, इन्हेलर को नहीं लेने की बजाय इसे नियमित रूप से इस्तेमाल करने से आपको कोई भी नुकसान होने की संभावना कम ही है.

मिथक #4 - न्हेलर अंतिम उपाय हैं

न्हेलर अंतिम उपाय नहीं है लेकिन सांस संबंधी समस्याओं जैसे दमा और सीओपीडी के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली पहली दवाई है. दुनिया भर में, न्हेलर को सांस संबंधी अधिकांश समस्याओं का इलाज करने का सबसे प्रभावी, सुरक्षित और सुविधाजनक तरीका माना जाता है. तत्काल और दीर्घ-कालिक राहत प्रदान करने के लिए न्हेलर दवाइयों को सीधे समस्या क्षेत्रों - फेफड़े और सांस की नली - तक पहुंचना संभव बनाते हैं. न्हेलेशन थेरेपी आपकी सांस संबंधी समस्याओं जैसे दमा और सीओपीडी का इलाज करने का सबसे प्रभावी तरीका है, अत: आप जो भी करना पसंद करते हैं उसे करते रह सकते हैं और जिंदगी का आनंद ले सकते हैं तथा किसी भी चिंता के बिना सामान्य सक्रिय जीवन जी सकते हैं.

Please Select Your Preferred Language