इनहेलर्स

इनहेलरों के प्रकार

पूरी दुनिया में, इनहेलरों को आम तौर पर सांस लेने की कई समस्याओं जैसे अस्थमा और सीओपीडी के लिए प्राथमिक उपचार माना जाता है. दो प्रकार की दवाएं हैं जिन्हें इनहेलरों के माध्यम से लिया जा सकता है- कंट्रोलर (ये आपके लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद करती है) और रिलीवर (ये हमले के मामले में तत्काल राहत प्रदान करती हैं). इनहेलर अस्थमा और सीओपीडी के इलाज और नियंत्रण के लिए सबसे सुरक्षित और सबसे असरदार तरीका साबित हुए हैं, क्योंकि सांस से ली गई दवा सीधे फेफड़ों तक पहुंच जाती है. 

व्यापक रूप से, इनहेलर उपकरणों को 4 श्रेणियों के तहत वर्गीकृत किया जा सकता है - प्रेशराइज्ड मीटर्ड डोज इनहेलर (पीएमडीआई), ड्राई पाउडर इनहेलर (डीपीआई), ब्रेथ एक्ट्यूएटेड इनहेलर (बीएआई) और नेबुलाइजर.

  1. प्रेशराइज्ड मीटर्ड डोज इनहेलर (पीएमडीआई)

इनको पंप इनहेलर के रूप में भी जाना जाता है, ये सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले इनहेलर डिवाइस हैं. ये प्रोपेलेंट-आधारित हैं और फेफड़ों तक एयरोसोल स्प्रे के रूप में दवा की एक विशिष्ट, पहले से मापी गई मात्रा प्रदान करते हैं, जिसे सांस द्वारा लेना होता है. यह हर बार एक्ट्यूएशन पर पुनरुत्पादित खुराक रिलीज करता है. इसका मतलब है कि हर बार खुराक की एक समान मात्रा रिलीज की जाती है. ये इनहेलर दवा रिलीज करने को ट्रिगर करने के लिए रोगी के सांस लेने के तरीके पर निर्भर नहीं हैं. उन्हें कैनिस्टर के एक्ट्यूएशन और डोज को सांस द्वारा लेने के बीच तालमेल की आवश्यकता होती है. इसे सरलता से बताने के लिए, आपको ठीक उसी पल में सांस लेनी चाहिए जब कैनिस्टर को दबाया जाता है और खुराक रिलीज होती है. पीएमडीआई डोज काउंटर के साथ भी आते हैं, जिससे डिवाइस में शेष पफों की संख्या पर नजर रखना आसान हो जाता है. 

 

लिंक: https://www.youtube.com/watch?v=qFXf7RUavMM

ऐसे कुछ डिवाइस हैं जिनका उपयोग पीएमडीआई में ऐड-ऑन के रूप में किया जा सकता है, ताकि उनका उपयोग आसान हो सके.

जीरोस्टैट वीटी स्पेसर

यह डिवाइस पीएमडीआई के एक्ट्यूएशन के बाद थोड़ी देर के लिए दवा को अपने अंदर रखता है. इस प्रकार, स्पेसर आपको सारी दवा को सांस द्वारा लेने में मदद करता है, भले ही आप उसी समय सांस न लें जब कैनिस्टर को एक्ट्यूएशन के लिए दबाया जाता है.

लिंक: https://www.youtube.com/watch?v=lOv0ODD6Vd4

बेबी मास्क

यदि आप या आपका बच्चा जीरोस्टैट वीटी स्पेसर के माउथपीस को सही तरीके से पकड़ने में असमर्थ हैं, तो आप जीरोस्टैट वीटी स्पेसर में बेबी मास्क लगा सकते हैं और फिर पीएमडीआई का उपयोग कर सकते हैं.

लिंक: https://www.youtube.com/watch?v=4y-PG500fFU

हफपफ किट

स्पेसर और बेबी मास्क एक हफपफ किट में पहले से असेंबल किए आते हैं. चूंकि यह पहले से असेंबल होता है, यह आपात स्थिति के मामले में दवा को जल्दी से डिलीवर करने में मदद करता है और समय बचाता है.
 

लिंक: https://www.youtube.com/watch?v=emLVSoIwKmg

  1. ड्राई पाउडर इनहेलर (डीपीआई)

इन प्रकार के इनहेलर सूखे पाउडर के रूप में दवा डिलीवर करते हैं. डीपीआई ब्रेथ-एक्ट्यूएटेड डिवाइस हैं, जो डिवाइस से दवा को रिलीज करने के लिए आपके द्वारा सांस लेने पर निर्भर करते हैं. पीएमडीआई की तुलना में, इनका उपयोग करना आसान है क्योंकि उन्हें प्रोपेलेंट और तालमेल की आवश्यकता नहीं होती. आम तौर पर, डीपीआई सिंगल डोज उपकरण होते हैं, हालांकि मल्टी-डोज डीपीआई भी उपलब्ध हैं.

रिवोलाइजर

रिवोलाइजर डीपीआई का उपयोग करना आसान है, आमतौर पर विभिन्न रोटाकैप्स के साथ इस्तेमाल किया जाता है. यह एक सटीक दवा की डोज और अधिक कुशल वितरण प्रदान करता है, भले ही सांस के प्रवाह की दर कम हो.  

 

लिंक: https://www.youtube.com/watch?v=7WYrSinFtgY

 

रोटाहेलर

पूरी तरह से पारदर्शी, रोटाहेलर आपको यह सुनिश्चित करने में मदद देता है कि आपने सांस के द्वारा दवा की पूरी डोज ले ली है.

लिंक: https://www.youtube.com/watch?v=mDXwrPCRl_M

  1. ब्रेथ एक्ट्यूएटेड इनहेलर (बीएआई)

पीएमडीआई तकनीक का एक उन्नत संस्करण, ब्रेथ एक्ट्यूएटेड इनहेलर में पीएमडीआई और डीपीआई के फायदे शामिल होते हैं. बीएआई एक एक्ट्यूएटर के माध्यम से आपकी सांस को महसूस करता है, और दवा अपने आप रिलीज करता है. 

ऑटोहेलर

ऑटोहेलर को पीएमडीआई और कुछ डीपीआई की तुलना में उपयोग करना कहीं अधिक आसान होता है. इसका उपयोग बच्चों, वयस्कों और बुजुर्गों हर किसी के द्वारा प्रभावी ढंग से किया जा सकता है. 

लिंक: https://www.youtube.com/watch?v=P0oD2VOaLVY

  1. नेबुलाइजर

पीएमडीआई और डीपीआई के विपरीत, नेबुलाइजर तरल दवा को उपयुक्त एयरोसोल बूंदों में परिवर्तित करते हैं, जो सांस द्वारा लिए जाने के लिए सबसे ज्यादा ठीक हैं. नेबुलाइजर को तालमेल की जरूरत नहीं होती और धुएं के रूप में फेफड़ों को जल्दी और प्रभावी ढंग से दवा वितरित करता है. अस्थमा के दौरे के दौरान, शिशुओं, बच्चों, बुजुर्गों, गंभीर, बेहोश मरीजों, और पीएमडीआई या डीपीआई का प्रभावी ढंग से उपयोग नहीं कर पाने वालों के लिए नेबुलाइजर को प्राथमिकता दी जाती है.

लिंक: https://www.youtube.com/watch?v=OrsIbHWxVlQ

 

Please Select Your Preferred Language